Thursday, February 9, 2023
spot_img
Homeउत्तराखंडजिलाधिकारी ने बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार करने के लिए स्वीकृत किया ऋण

जिलाधिकारी ने बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार करने के लिए स्वीकृत किया ऋण

सरकार की महत्वाकांशी मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना को धरातल पर उतारने के लिए सक्रिय युवा जिलाधिकारी विनीत कुमार ने जनपद के 23 बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार करने के लिए 62 लाख का ऋण स्वीकृत किया। जनपद के बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए जिलाधिकारी श्री कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का साक्षात्कार लिया गया। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत जनपद के 35 लोगों द्वारा ऑनलाईन आवेदन किया गया, जिसमें से पांच अनुपस्थित रहें तथा सात प्रार्थना पत्र अस्वीकृत कियें गयें, तथा 23 लोगो को 62 लाख का ऋण बकरी पालन, मुर्गी पालन, भैस पालन, पोल्ट्री फार्म, डेयरी, रेडीमेंड गारमेंट्स, जनरल स्टोर, स्टेशनरी, बेकरी, खच्चर पालन, ब्यूटी पार्लर, मार्ट, आदि व्यवसाय हेतु स्वीकृत कर विभिन्न बैंको को भेजे गयें।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना मुख्यमंत्री की महत्वाकांशी योजना है, जिसमें अधिक से अधिक बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार से जोडने का उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि इस योजना अंतर्गत युवाओं को रोजगार मिलेगा, जिससे पलायन को रोकने में भी सहायक होगा। उन्होंने महाप्रबंधक उद्योग को निर्देश दियें कि वे अधिक से अधिक बेरोजगार युवाओं से आवेदन आमंत्रित करायें ताकि युवाओं को स्वरोजगार से जोडा जा सकें। तथा उन्हें स्वरोजगार से जोड़ते हुए आत्मनिर्भर बनाया जा सकें। उन्होंने साक्षात्कार में शामिल हुए युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वे जिस स्वरोजगार के लिए आवेदन कर ऋण ले रहे हैं उसी रोजगार को शुरू करते हुए धनराशि का व्यय करें। उन्होंने महाप्रबन्धक उद्योग सहित सभी बैकर्स को कहा कि जो भी आवेदन पत्र बैंकों में ऋण हेतु उपलब्ध कराये जा रहे हैं उन्हें प्राथमिकता के आधार पर आवश्यक कार्यवाही करते हुए तत्काल युवाओं को रोजगार शुरू करने के लिए ऋण उपलब्ध कराये। मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह ने कहा कि जनपद के बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना संचालित की गयी है।

उन्होंने कहा कि साक्षात्कार के माध्यम से जनपद के बेरोजगार युवाओं को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए विभिन्न बैंकों से ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है जिससे न केवल बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे वहीं उनकी आर्थिकी भी मजबूत होगी। इस अवसर पर महाप्रबन्धक उद्योग जी0पी0 दुर्गापाल, लीड बैंक अधिकारी एन0आर0 जौहरी, मुख्य प्रबंधन उत्तराखंड ग्रामीण बैंक बागेश्वर धनी लाल, ग्रामोद्योग अधिकारी केएस कर्मयाल, प्रबंधक एसबाई अखिलेश गब्र्याल, पशुपालन के डॉ0 कमल तिवारी एवं आवेदक उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

ताजा खबरें