नैनीताल:: सरोवर नगरी की हसीन वादियों में शूट हुई एवं संजय सनवाल द्वारा निर्देशित फिल्म कन्नू का फ्रांस के कांस फिल्म फेस्टिवल मे हुआ सबमिशन

ख़बर शेयर करें :-

नैनीताल::- बाल श्रमिक पर आधारित फिल्म कन्नू की शूटिंग नैनीताल की हसीं वादियों में फिल्माई गई है जिसका शनिवार को महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर फ्रांस के कांस फिल्म फेस्टिवल में सबमिशन हो गया| कन्नू यह फिल्म संजय सनवाल द्वारा लिखी और निर्देशित है, इस अवसर पर संजय सनवाल ने पूरी टीम को बधाई का पात्र माना। यह गौर करने वाली बात है के अभी तक इंडिया से कुछ ही लोगो को फ्रांस के कांस फिल्म फेस्टिवल मे सम्मान प्राप्त हुआ है। संजय सनवाल जो नैनीताल निवासी हैं पिछले 20 वर्षों से मुंबई में फिल्म लेखन, फिल्म डायरेक्शन व प्रोडक्शन का काम कर रहे है। अब तक लगभग 30 से भी ज्यादा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में अवार्ड प्राप्त कर चुके हैं।
जिसके लिए महाराष्ट्र के पूर्व गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी व प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सम्मानित किया हैं। इस उपलब्धि के बाद संजय सनवाल की फिल्म को का फिल्म फेस्टिवल से अपनी फिल्मों को उसके फेस्टिवल में भेजने का आमंत्रण प्राप्त हुआ। जिसके फलस्वरूप एक सामाजिक मुद्दे बाल श्रमिक पर वह इस फिल्म कन्नु का निर्माण, निर्देशन व लेखन किया। जिसकी शूटिंग पिछले महीने नैनीताल के कई लोकेशन में संपन्न हुई है।
इस फिल्म की शूटिंग नैनीताल के कई लोकेशन में फिल्माई गई, जिसमें सेंट जोसेफ कॉलेज भी एक लोकेशन में है।
वही संजय सनवाल ने सेंट जोसेफ कॉलेज के प्रिंसिपल का फिल्म के लिए दो लाख प्रति दिन की लोकेशन इस फिल्म के लिए उन्हें निशुल्क प्रदान करने पर आभार जताया है।
वही उन्होंने बताया की वह हैरान हो गए जब सहयोग अपेक्षित नैनीताल नगरपालिका नैनीताल के एक आला अधिकारी ने 20 सेकंड की शूटिंग के लिए ₹10000 रु में एक लोकेशन के चार्ज बताएं, जिससे वह बहुत खिन्न है।
संजय सनवाल ने इस फिल्म के लिए राही वेलवेडियर होटल, बलजिन्दर कौर, सैलू शाह शीला होटल, सिटी हार्ट होटल, कानू दा, मैपल होटल, पाठक जी टांकी बैंड, नैनीताल व डीएफओ वन विभाग नैनीताल एवं उत्तराखंड सरकार और नैनीताल निवासी कला प्रेमियों का आभार जताया हैं।
वही दिल्ली की इंग्लिश लेक्चरर किरण मिश्रा का आभार व्यक्त किया जिन्होंने अंग्रेजी ट्रांसलेशन किया। इस फिल्म में नैनीताल के ख्याति मंच नाट्यकर्मी प्राप्त राजेश आर्य , अनिल घिल्डियाल, बलजिन्दर कौर , जी० के ०ए गौरव बब्बी, प्रीतिका तिवारी, कोमल मेहरा व एल पी एस पब्लिक स्कूल, नैनीताल, सेंट मेरिज और सेंट जोसेफ कॉलेज, नैनीताल के बच्चों ने मुख्य भूमिका निभाई है।

फिल्म के प्रोडक्शन मैनेजर विजय किरोला, लाईन प्रोड्यूसर गौरव सी०एस बब्बी, प्रोडक्शन कंट्रोलर कमल किशोर पांडे, प्रोडक्शन एग्जीक्यूटिव देवाल चमोली के राजेंद्र बिष्ट व अन्य लोकल कलाकारों का योगदान रहा। टेक्नीशियन के दिल्ली और मुंबई से है जिसमें डी ओ पी कुलदीप रावत, ड्रोन कैमरा राजेंद्र बिष्ट, स्टील फोटोग्राफर हल्दवानी के समय राज शाह, म्यूजिक विदित तंवर, एडिशनल क्रिएटिव और पंच लाइन राइटर मुंबई के अमर ठाकुर का विशेष योगदान है, इस फिल्म को चंडीगढ़ की हेमा शर्मा ने प्रोड्यूस किया है और यह फिल्म उन्होंने अपनी बहन को समर्पित की है जिसे उन्होंने कॉविड़ के दौरान खो दिया था।

इस फिल्म के लिए संजय सनवाल ने बताया कि अब सबमिशन के बाद फिल्म के प्रोड्यूसर फिल्म की कांस फिल्म फेस्टिवल में नॉमिनेट होने का इंतजार कर रहे हैं, जिनकी उनको पूर्ण आशा है, उसके बाद दुनिया भर में फिल्म की बिक्री शुरू कर देंगे, जिसके लिए उनके पास कुछ एजेंसी मौजूद है, जबकि उन्हें अभी विदेशों में फिल्म बायर की तलाश है।