Saturday, January 28, 2023
spot_img
Homeउत्तराखंडपंचतत्व में विलीन हुई अंकिता, बहादुर बेटी को हजारों लोगों ने नम...

पंचतत्व में विलीन हुई अंकिता, बहादुर बेटी को हजारों लोगों ने नम आंखों से दी अंतिम विदाई

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आश्वासन के बाद अंकिता भंडारी का परिवार उसका अंतिम संस्कार करने के लिए तैयार हुआ। अंकिता का अंतिम संस्कार NIT घाट पर किया गया। इस दौरान हजारों लोगों ने नम आंखों से बहादुर बेटी को, अंतिम विदाई दी। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद देर शाम अंकिता के पार्थिव शरीर को 12 घंटे से अधिक प्रदर्शन के बाद अब दाह संस्कार के लिए ले जाने की सहमति बनी अंकिता के पार्थिव शव को एनआईटी घाट श्रीनगर ले जाया गया। भारी आक्रोश को देखते हुए मौके पर मौजूद रहा भारी पुलिस बल। मुख्यमंत्री धामी की अपील के बाद मृतका के पिता ने भी किया था एलान जांच व कारवाई से सहमत है। सीएम धामी ने अंकिता के परिजनों से भी फोन पर बात की और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। अंकिता के परिजन बेटी का अंतिम संस्कार नहीं कर रहे हैं लेकिन शासन प्रशासन के मनाने के बाद अंकिता के अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुए । अंकिता का अंतिम संस्कार हो चुका है।

ज्ञात हो कि अंकिता हत्याकांड के बाद लोगों में काफी आक्रोश है । आज सुबह अंकिता भंडारी को नम आंखों से विदाई दी जानी थी। लेकिन उसके परिजनों ने अंतिम संस्‍कार करने से मना कर दिया । लोग लगातार प्रदर्शन कर रहे है। श्रीनगर में अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग को लेकर लोगों ने बदरीनाथ हाईवे जाम किया। अंकिता के परिजनों ने भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही अंतिम संस्कार करने की बात कही । मोर्चरी के बाहर लोगों ने हंगामा किया।

इससे पहले पुलिस प्रशासन ने अंकिता के पिता वीरेन्‍द्र सिंह भंडारी से बात की, लेकिन उनकी वार्ता विफल रही। हालांकि अंकिता के पिता ने लोगों से अपील की वह प्रदर्शन के दौरान सड़कें जाम न करें। अंकिता के पिता ने भीड़ से पूछा कि क्‍या किया जाए तो लोगों ने कहा कि मांगें पूरी होने तक प्रदर्शन जारी रहेगा।
उनका कहना है कि अंकिता की फाइनल पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक की जाए। आरोपियों को फांसी दी जाए। अंकिता के परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाए और परिवार के एक सदस्‍य को नौकरी दी जाए।

RELATED ARTICLES

ताजा खबरें