Saturday, January 28, 2023
spot_img
Homeउत्तराखंडसियासतः फिर गुटबाजी में उलझी उत्तराखण्ड कांग्रेसः इधर हाईकमान डैमेज कंट्रोल में...

सियासतः फिर गुटबाजी में उलझी उत्तराखण्ड कांग्रेसः इधर हाईकमान डैमेज कंट्रोल में जुटा था उधर हाथापाई चल रही थी! तो क्या उत्तराखण्ड में ऐसे पार होगी कांग्रेस की चुनावी नैय्या

देहरादून। उत्तराखण्ड कांग्रेस में सबकुछ अच्छा नहीं चल रहा है। अभी एक दिन पहले ही उत्तराखण्ड में कांग्रेस के बडे चेहरों में गिने जाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने ट्वीट कर जहां अपने ही संगठन पर सवाल खड़े किए थे, वहीं आज राजधानी दून में कांग्रेसियों के दो गुट आपस में भिड़ गए। हांलाकि पूर्व सीएम रावत आज दिल्ली में हाईकमान से मिलने के आश्वस्त दिखे और उन्होंने दिल्ली में हुई बात मीडिया के समक्ष भी रखी, लेकिन कांग्रेस में सबकुछ सही है यह कहना अभी जल्दबाजी होगा। जानकारी के अनुसार उत्तराखण्ड कांग्रेस में मचे घमासान के बीच आज जहां कांग्रेस के वरिष्ठ चेहरे दिल्ली में हाईकमान से मंथन कर रहे थे वहीं देहरादून में पूर्व सीएम हरीश रावत व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह के समर्थक आपस में भिड़ गए। इसको लेकर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें रावत समर्थक प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र शाह पर भड़कते हुए उनसे हाथापाई करते दिख रहे हैं। उधर इस मामले के बाद भाजपा ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। फिलहाल प्रदेश में कांग्रेसियों की गुटबाजी का मामला सुर्खियां बटोर रहा है।
जानकारी के अनुसार शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के समर्थक राजपुर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में पहुंचे और वहां पहले से ही मौजूद कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री व पूर्व दायित्वधारी राजेंद्र शाह पर हरीश रावत के लिए इंटरनेट मीडिया में अपशब्दों का प्रयोग करने का आरोप लगाने लगे। उन्होंने शाह को घेर लिया और उनके साथ धक्का-मुक्की की। फिर उनमें से एक ने शाह को थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद मुख्यालय परिसर में हरीश रावत व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह के समर्थकों के बीच हंगामा मच गया। बता दें कि राजेंद्र शाह नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह के समर्थक माने जाते हैं। पिछले दिनों राजेंद्र शाह ने इंटरनेट मीडिया पर हरीश रावत पर तल्ख टिप्पणी की थी, जो उनके समर्थकों को अखर गई। शुक्रवार दोपहर हरीश रावत के समर्थक युवा कांग्रेस नेता हितेश क्षेत्री, अमित रावत, अजय रावत व कांग्रेस सदस्यता अभियान समिति के सह संयोजक मोहन काला भी वहां आ गए। उन्होंने राजेंद्र शाह पर हरीश रावत के खिलाफ अपशब्द कहने और इंटरनेट मीडिया में गलत टिप्पणी के आरोप लगाए। 

RELATED ARTICLES

ताजा खबरें