पर्यटन सीजन के मद्देनजर डीआईजी ने पुलिस प्रशिक्षण का किया शुभारंभ, दी यह जानकारियां

ख़बर शेयर करें :-

नैनीताल। आगामी पर्यटन सीजन को देखते हुए संपूर्ण कुमाऊं परिक्षेत्र में आने वाले पर्यटकों को उचित मार्गदर्शन, सुरक्षित वातावरण व निर्बाध रहित सुगम यातायात व्यवस्था उपलब्ध कराए जाने के उद्देश्य से डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे द्वारा रिजर्व पुलिस लाईन नैनीताल के सभागार में मिशन अतिथि के तहत दो दिवसीय पर्यटन पुलिस प्रशिक्षण का शुभारम्भ किया गया। इस दौरान डीआईजी कुमाऊं रेंज ने पर्यटक पुलिस प्रशिक्षण के लिए कुमाऊं परिक्षेत्र के समस्त 06 जनपदों से आए 18 उप निरीक्षक एवं 95 आरक्षी को अपने-अपने जनपद के पर्यटक क्षेत्रों में आगामी पर्यटन सीजन के दौरान पर्यटकों के साथ अच्छे आचरण व व्यवहार, शिष्टाचार व्यवहार करने तथा पर्यटन व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी गई।

 

 

डीआईजी ने बताया कि किस प्रकार हम आगंतुक पर्यटको को सुरक्षित वातावरण, सही मार्गदर्शन व सुगम यातायात सेवाएं उपलब्ध करा सकते हैं। कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए पर्यटन पुलिस चौकियों में क्षेत्र के समस्त पर्यटक स्थलो के नामों को एक पंपलेट में छपवाकर पर्यटकों के मार्गदर्शन के लिए रखा जाए। समस्त पर्यटक स्थलों में प्रीपेड बूथ का संचालन कराया जाए जिसमें उस क्षेत्र के समस्त होटल संचालकों, टैक्सी संचालकों के नामों की लिस्ट चस्पा हो जिससे पर्यटको को भ्रमण के दौरान कोई अराजक तत्व भ्रमित ना कर सके। पर्यटन स्थलों के स्थानीय होटल संचालकों, टूर एंड टैक्सी संचालकों से सामंजस्य स्थापित कर संबंधित होटलो के नाम, टूर एंड टैक्सी संचालकों की संस्थाओं के नाम अभिलिखित हो। आगंतुक पर्यटको के स्वागत हेतु कुमाऊं परिक्षेत्र के प्रवेश द्वार काठगोदाम में पर्यटक स्वागत कक्ष एवं मार्गदर्शिका कक्ष को बनाया जाएगा जहां से स्थानीय पर्यटन पुलिस द्वारा आगंतुक पर्यटकों को उनके मार्गदर्शन में सहयोग करेगी । पर्यटको को सुरक्षित वातावरण मुहैया कराए जाने के लिए सभी पर्यटन थानों के चीता मोबाइल कर्मी (थाना, पुलिस कर्मी का नाम, मोबाइल नंबर इत्यादि से परिपूर्ण) विजिटिंग कार्ड्स छपवाकर पर्यटकों को और अधिक सुरक्षा हेतु अग्रसर कर सकते हैं जिससे पर्यटकों में ना सिर्फ पुलिस प्रशासन के प्रति विश्वास पैदा होगा

Gunjan Mehra