बाबा का रुप धारण कर पेड़ के नीचे ध्यान अवस्था में बैठा मिला गुमशुदा व्यक्ति

ख़बर शेयर करें :-



बीते 17 नवंबर को दन्या निवासी हरीश चन्द्र ने अपने पुत्र मोहन चन्द्र, उम्र- 43 वर्ष के बिना बताये घर से कही चले जाने के सम्बन्ध में थाना दन्या में गुमशुदगी दर्ज करायी गयी थी।
जिस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रामचन्द्र राजगुरु द्वारा थानाध्यक्ष दन्या को शीघ्र तलाश कर बरामद करने के लिए निर्देशित किया गया।

जिस पर सीओ अल्मोड़ा विमल प्रसाद के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष दन्या जसविन्दर सिंह के नेतृत्व में थाना पुलिस द्वारा गुमशुदा की तलाश हेतु काफी प्रयास करने के उपरांत सर्विलांस टीम की मदद से गुमशुदा व्यक्ति की लोकेशन बागेश्वर धाम, मध्यप्रदेश प्राप्त हुई। जिसके बाद पुलिस टीम गुमशुदा को साथ लेकर बागेश्वर धाम, मध्य प्रदेश के लिए रवाना हुई। जहां पहुंचकर गुमशुदा को काफी तलाश करने के बाद सर्विलांस टीम ने 6 दिसंबर को गुमशुदा मोहन चन्द्र को बागेश्वर धाम से 20 किमी दूर ग्राम बमीठा, जिला छतरपुर, मध्यप्रदेश से सकुशल बरामद किया गया।
जहां गुमशुदा बाबा का रुप धारण कर एक पेड़ के नीचे ध्यान अवस्था में बैठा हुआ था। घर से बिना बताये इतनी दूर आने के बारे में पूछने पर बताया कि वह आत्म शांति के लिए यहाँ आ गया था। पुलिस टीम गुमशुदा को साथ लेकर 9 दिसंबर को थाना दन्या पहुंची जिसे बाद आवश्यक कार्यवाही सकुशल उसके परिजनों के सुपुर्द किया गया।

 

 

Gunjan Mehra