Thursday, February 9, 2023
spot_img
Homeउत्तराखंडहल्द्वानी : मंडलायुक्त दीपक रावत ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनसमस्याएं, 31...

हल्द्वानी : मंडलायुक्त दीपक रावत ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनसमस्याएं, 31 शिकायतें हुई प्राप्त

हल्द्वानी । मण्डलायुक्त दीपक रावत ने शनिवार को आयुक्त कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जनता दरबार लगाकर जनसमस्याएं सुनी। जनता दरबार में फरियादियों द्वारा दिव्यांग आई कार्ड, राजस्व, अवैध कब्जे, अतिक्रमण, आर्थिक सहायता, सड़क आदि से सम्बन्धित 31 शिकायतें दर्ज हुई। इस अवसर पर मण्डलायुक्त ने कतिपय समस्याओं को मौके पर व अवशेष शिकायतों के निस्तारण हेतु अधिकारियों से दूरभाष वार्ता कर निर्धारित समयावधि में समस्याओं को निस्तारित कर कृत कार्यवाही से अवगत कराने के निर्देश दिए।
जनता दरबार में सेक्रेड हार्ट स्कूल के प्रबंधक द्वारा नवीं कक्षा के छात्र अक्षत सिंह को टीसी न देने पर विद्यालय के प्रबंधक को मौके पर बुलाकर मामले को निस्तारित किया। प्रबन्धक द्वारा बताया गया कि छात्र की टीसी तैयार है किंतु अभिभावक द्वारा टीसी फीस न दिए जाने के कारण टीसी नहीं दी जा रही है। इस सम्बन्ध में आयुक्त ने अभिभावक से विद्यालय के प्रबन्धक को तत्काल टीसी हेतु फीस दिलाई व छात्र की टीसी देने के निर्देश दिए। दिलीप निवासी सावित्री कालोनी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद के दिव्यांगों के ससमय यूनिक डिसएबिलिटी कार्ड बन सके इसके लिए शिविर लगया जाया जिसके सम्बन्ध में आयुक्त ने स्वास्थ्य व समाज कल्याण विभाग को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। गौलापार खेड़ा ग्राम प्रधान लीला बिष्ट एवं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा अवगत कराया गया कि गौलापार क्षेत्र के लिए गौलाबैराज से सिंचाई के लिए एक मात्र नहर विगत वर्ष आपदा के दौरान क्षतिग्रस्त हो गई है जिससे क्षेत्र के किसानों को पानी नहीं मिल पा रहा है उन्होने नहर की शीघ्र मरम्मत कराने का अनुरोध किया जिस पर आयुक्त ने कहा कि जल्द ही सिंचाई विभाग द्वारा निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।
रॉसिला की पुष्पा देवी द्वारा अवगत कराया गया कि 14 मई 2021 को उनके पति की कोविड से मृत्य हो गई थी किन्तु उनके पास कोविड से मृत्य का कोई प्रमाण नहीं है। इस संबंध में मुख्य विकास अधिकारी को महिला के पति के कोविड से मृत्यु की की जांच कर उनके बालक को सीएम वात्सल्य योजना से लाभान्वित कराने के निर्देश दिए। आवास विकास निवासी किरन हसनैन ने अवगत कराया कि वह सेंट पाॅल स्कूल मे पीजीटी हिंदी की अध्यापिका थी किन्तु कोविड 19 के दौरान स्कूल बन्द हो जाने से प्राथिर्नी को आॅनलाइन शिक्षण कार्य से नहीं जोडा गया तथा वर्तमान समय तक उन्हें शिक्षण कार्य के साथ-साथ वेतन आदि भी नही दिया गया। इस संबंध में सिटी मजिस्ट्रेट को मामला निस्तारित करने के निर्देश दिये।
जनता दरबार मे अपर आयुक्त प्रकाश चन्द्र के साथ ही विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

ताजा खबरें